Breaking News

MP- राजस्थान में मायावती ने दी कांग्रेस के साथ गठबंधन तोड़ने की धमकी, कहा- दलितों के केस वापस लो


 महागठबंधन के जरिए आगामी लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज करने का सपना संजोए हुए बैठी है। हालांकि इसे लिए कांग्रेस के सामने बड़ी चुनौती विपक्ष को एकजुट करने की है। जोकि मामला बेदह ही दिलचस्प होने वाला है। बसपा सुप्रीमो मायावती के अपने तेवर ही निराले हैं जिन्हें दिखाते हुए अपनी सहयोगी पार्टी को ही धमकी दे डाली है।
दरअसल हाल ही में राजस्थान, मध्यप्रदेश और छ्त्तीसगढ़ जैसे तीन बड़े राज्यों में चुनाव जीतने के बाद एमपी और राजस्थान में कांग्रेस ने बहुमत से कुछ सीटें कम होने के चलते बसपा के साथ गठबंधन किया था। जिसके बाद अब मायावती ने अपने तेवर दिखाते हुए सरकार को समर्थन वापस लेने की बात कही। जिसके लिए उन्होंने कांग्रेस के सामने एक शर्त भी रखी।
बीएसपी ने ये धमकी इसी साल अप्रैल में एससी/एसटी एक्‍ट को लेकर हुए भारत बंद के दौरान दर्ज किए गए मामलों को वापस लेने की मांग पर दी है। पार्टी ने आरोप लगाया है कि बीजेपी राज में राजनीतिक और जातिगत विद्वेष से निर्दोष लोगों पर मुकदमे दर्ज किए गए थे।
बीएसपी ने कहा '2 अप्रैल 2018 को भारत बंद के दौरान एससी/एसटी एक्ट 1989 के तहत राजस्थान और मध्यप्रदेश में जो केस दर्ज किया गया था, उसे वापस लिया जाए. नहीं तो हमारी पार्टी कांग्रेस से समर्थन वापस ले लेगी।
इतना ही नही मायावती ने सरकार को सलाह भी देते हुए कहा कि वे एमपी, राजस्‍थान और छत्‍तीसगढ़ सरकार किसानों व बेरोजगारों के लिए फौरन उचित कदम उठाए। मायावती 2019 के आम चुनावों से पहले कांग्रेस को लगातार आंख दिखा रही है। उत्‍तर प्रदेश में बीएसपी के अखिलेश यादव की समाजवादी पार्टी के साथ मिलकर लोकसभा चुनाव लड़ने की संभावना जताई जा रही है. इस गठबंधन में कांग्रेस को शामिल नहीं किया गया है।

No comments