Breaking News

Happy New Year 2019: 1 जनवरी को ही क्यों मनाते हैं नया साल, जानिए वजह

जयपुर। 2018 खत्म हुआ रात से 2019 शुरू हो गया इस नए साल के मौके पर हम सभी आपको नए साल की हार्दिक शुभकामनाएं देते हैं आज हम आपको यह बताएंगे कि 1 जनवरी को ऐसा क्या है कि इसी दिन से नया साल बनाया जाता है.

दरअसल 1 जनवरी को नया साल बनाने के पीछे कई कारण है और कई मान्यताएं हैं जिसके चलते जनवरी की 1 तारीख को नए साल के रूप में बनाया जाता है ऐसा माना जाता है कि जनवरी महीने का नाम रोमन के देवता जान उसके नाम पर रखा गया है वहीं इन मान्यताओं के अनुसार जाने दो मुख वाले भी होता है इसमें एक मुख आगे की और वही एक दूसरे की और कहा जाता है कि 2 मुंह को होने की वजह से जान उसने बीते कल और आने वाले कल के बारे में पता रहता था इसीलिए इस देवता जान उसके नाम पर जनवरी का साल का पहला दिन 1 जनवरी को नए साल की शुरुआत में मनाया जाता है.
इसके अलावा माना जाता है कि ईसा पूर्व में रूम के बाद शाह जूनियर सीजन ए जूलियन कैलेंडर बनवाया था तब से लेकर आज तक दुनिया के ज्यादातर देश 1 जनवरी को ही अपना नया साल बनाते हैं हालांकि बाद में कैलेंडर में कई गलतियां की बात की गई और इसके बाद गिग्रोरियन कैलेंडर को माना जाने लगा.

वहीं अगर भारत देश की बात करें तो भारत में हिंदू अपना धर्म के अनुसार नया साल सृष्टि की रचना करने के दिन ब्रह्मा जी ने जब सृष्टि की रचना की थी उस दिन को बनाते हैं जैन दिवाली के समय बनाते हैं इस्लामी के अनुसार मोहर्रम के महीने की 1 तारीख को नया साल बनाया जाता है पंजाबियों के हिसाब से वैशाखी के दिन नया साल बनाया जाता है इसी हिसाब से अलग-अलग धर्म के हिसाब से नए नए साल को बनाने के अलग अलग प्रथाएं है.

No comments