Breaking News

ऐसा राजा जिसने मेहमान को ईश्वर के समान माना मगर उस मेहमान ने उसकी ही बीवी पर डाली बुरी नजर

दोस्तों आपने चितौड़ का नाम तो सुना ही होगा। चित्तौड़ का नाम भी नहीं सुना तो पद्मावती का नाम तो जरूर सुना होगा। पद्मावती के पति का नाम राजा रतन सिंह था। कहते हैं इस राजा के पीठ के पीछे वार किया गया था और उसकी हत्या कर दी गई।
राजा रतन सिंह

कहते हैं उस समय अलाउद्दीन खिलजी हुआ करता था जो कि अपना दिल रानी पद्मावती पर हार चुका था इसलिए वह राजा रतन सिंह से मिलने उनके महल के अंदर गया। राजा रतन सिंह ने उसके साथ मेहमान जैसा बर्ताव किया मगर अलाउद्दीन ने तो रानी को देखने के लिए ही इच्छा जाहिर कर दी।
राजा रतन सिंह यह सुनकर आग बबूला हो गए फिर भी उन्होंने उसे कुछ नहीं कहा और सही सलामत अपने महल से बाहर भेज दिया क्योंकि वह मेहमान को ईश्वर के समान मानते थे।

फिर अलाउद्दीन खिलजी भारी संख्या में अपनी सेना लेकर राजा रतन सिंह के महल पर हमला करवा दिया। दोनों के बीच युद्ध हुआ और राजा रतन सिंह जीत गए थे। लेकिन उसी समय अलाउद्दीन की सेना ने पीछे से ही राजा रतन सिंह पर हमला कर दिया और इस वजह से उनकी मौत हो गई थी।
रानी पद्मावती को देखने के लिए उसने धोखे से राजा रतन सिंह को मार दिया मगर रानी पद्मावती भी आग में कूद जाती है दोस्तों पद्मावत भी एक बहादुर और निडर योद्धा थी इस तरह अलाउद्दीन खिलजी हार जाता है।

No comments