Breaking News

जानिए भगवान शिव की पुत्री मनसा के बारे में

पुराणों के अनुसार देवी मनसा को भगवान शिव की पुत्री कहा जाता है. देवी मनसा भगवान शिव के मस्तक में से प्रकट हुई थी इसलिए उनका नाम मनसा अर्थात मन से उत्पन्न होनेवाली देवी रखा गया. पुराणों के अनुसार नागराज वासुकी जो भगवान शिव के परमभक्त भी है उन्होंने भगवान शिव से एक बहन प्राप्त करने के लिए प्राथना की थी.

उस समय भगवान शिव ने अपने मस्तक से एक कन्या जो उत्पन्न किया वहीँ थी देवी मनसा, पुराणों के अनुसार उस समय नागराज मनसा देवी के तेज को सहन नहीं कर पाए और उन्होंने अपनी बहन मनसा को पालन करने के लिए हलाहल नाम के एक तपस्वी को दे दिया

मनसा देवी का विवाह नागराज वासुकी ने जगत्कारू नाम के एक महर्षि से किया था और उनके पुत्र का नाम आस्तिक मुनि था. वह आस्तिक मुनि ही थे जिन्होंने जनमेजय के यज्ञ में नागों की रक्षा की थी. पुराणों के अनुसार मनसा देवी का एक नाम विषहरी भी है क्योंकि वह कालकूट विष के प्रभाव को भी नष्ट कर सकती है. महाभारत में एक कथा वर्णन मिलता है जहाँ पर युधिष्ठिर ने मनसा देवी की पूजा की थी और उस पूजा के फल स्वरूप उसे महाभारत के युद्ध में विजय प्राप्त हुई थी.

No comments