Breaking News

अकाली दल का कांग्रेस पर हमला, कहा- राहुल जवाब दें उनके परिवार ने सज्जन को क्यों दी ‘शरण’?


1984 के सिख विरोधी दंगों के एक मामले में आजीवन कारावास की सजा काटने के लिए सज्जन कुमार के आत्मसमर्पण करने के बाद केन्द्रीय मंत्री और अकाली दल नेता हरसिमरत बादल ने राहुल गांधी पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष को बताना चाहिए कि उनके परिवार ने 34 साल तक कुमार को ‘‘शरण’’ क्यों दी।
हरसिमरत ने यह भी सवाल किया कि कमलनाथ और जगदीश टाइटलर जैसे लोगों को ‘‘संरक्षण’’ और ऊंचे पद सौंपकर ‘‘इनाम’’ क्यों दिया जा रहा है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा, ‘‘सज्जन कुमार को उम्रकैद की सजा कटाने के लिए आत्मसमर्पण हेतु विवश करने के साथ ही कांग्रेस का एक मगरमच्छ पकड़ में आ गया है।’’ केन्द्रीय मंत्री ने कहा कि मामला गांधी परिवार तक पहुंचने और सिखों की हत्याओं में उनकी भूमिका का पर्दाफाश होने से पहले दो और लोग जगदीश टाइटलर और कमलनाथ बचे हैं। इसके बाद ही 1984 नरसंहार का मामला पूरी तरह से बंद होगा।’’
बता दें कि 1984 में पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या के बाद हुए सिख विरोधी दंगों के मामले में उम्रकैद की सजा पाए पूर्व कांग्रेसी नेता सज्जन कुमार ने सोमवार दोपहर दो बजे के बाद दिल्ली के कड़कडड़ूमा जिला अदालत में समर्पण कर दिया।अदालत ने सज्जन कुमार को पूर्वी दिल्ली स्थित मंडोली जेल भेजने का आदेश दिया है। सज्जन से पहले 2 दोषियों महेंद्र यादव और किशन खोखर ने भी समर्पण किया।
अदालत ने महेंद्र यादव को अपनी टहलने की छड़ी और चश्मों को जेल ले जाने की इजाजत दे दी। यादव और खोखर को 10-10 साल की सजा हुई है। 17 दिसम्बर को दिल्ली हाई कोर्ट ने सज्जन कुमार को दिल्ली कैंट इलाके में 5 सिखों की हत्या के लिए दोषी ठहराया था। हाई कोर्ट ने सज्जन कुमार के आत्मसमर्पण करने के लिए 31 दिसंबर तक की समयसीमा निर्धारित की थी। उन्होंने कड़कडड़ूमा जिला अदालत के मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट अदिति गर्ग के समक्ष आत्मसमर्पण किया।

No comments