Breaking News

2019 में बन रहा है बड़ा महासंयोग, जो इससे पहले 1870 में बना था


इंताजार के बाद साल 2018 खत्म हो गया और 2019 आ गया। साल 2018 की यादें, घटनाएं इतिहास के पन्नों में दर्ज हो जाएगी। हिन्दू पंचांग के अनुसार नए साल का आगमन मंगलवार, एकादशी, स्वाती नक्षत्र और घृति योग में हो रहा है। नए साल की शुरुआत सर्वार्थ सिद्धि, जेमिनी और केदार योग में होगा। साथ ही साल का पहला सूर्योदय धनु लग्न के स्वाति नक्षत्र में राहु की महादशा लगने पर होगा। नए साल का शुभारंभ 1 जनवरी को सफला एकादशी और स्वाति नक्षत्र में होगा। यह योग जीवन में सुख समृद्धि का प्रतीक है। विशेष संयोगों के साथ नए साल का होगा आगमन हो चुका है, कई साल बाद बन रहा ऐसा महायोग
साल 2019 में बड़ा महासंयोग भी बन रहा है जो इससे पहले ऐसा संयोग वर्ष 1870 में बना था। नए साल में धनु राशि पर शनि व केतु की युति बन रही है जो इससे पूर्व 1870 में बनी थी। इस संयोग में कई घटनाएं घटित हुई थीं जिससे बहुत कुछ परिवर्तन हुआ था। इससे बाद धनु राशि पर शनि व केतु युति का महासंयोग आगामी वर्ष 2076 में बनेगा।
वर्ष 2019 में मंगलवार का भी विशेष संयोग रहेगा। नए साल की शुरुआत मंगलवार को हो रही है और समापन भी मंगलवार को ही होगा। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार मंगल मेष एवं वृश्चिक राशि का स्वामी है। मंगल ऊर्जा का प्रतीक और सूर्य, चंद्रमा व बृहस्पति का मित्र है।
इसके अलावा 2019 में सोमवार का दिन बहुत खास रहेगा क्योंकि सालभर के बड़े व्रत- त्योहार सोमवार के दिन ही पड़ रहे हैं। इस साल सोमवार को 4 एकादशी, 4 प्रदोष व्रत, 3 अमावस्या और 2 पूर्णिमा पड़ेगी।

No comments